बालक के जीवन को सफल बनाने एवं समाज के वास्तविक शिल्पकार होते हैं शिक्षक

बालक के जीवन को सफल बनाने एवं समाज के वास्तविक शिल्पकार होते हैं शिक्षक

महर्षि अरविंद ने शिक्षकों के सम्बन्ध में कहा है कि ''शिक्षक राष्ट्र की संस्कृति के चतुर माली होते हैं। वे संस्कारों की जड़ों में खाद देते हैं और अपने श्रम से सींचकर उन्हें शक्ति में निर्मित करते हैं।' 'महर्षि अरविंद का मानना था कि किसी राष्ट्र के वास्तविक निर्माता उस देश के शिक्षक होते हैं। इस प्रकार एक विकसित, समृद्ध और खुशहाल देश व विश्व के निर्माण में शिक्षकों की भूमिका ही सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होती है। आज कोई भी बालक 2-3 वर्ष की अवस्था में विद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने के लिए आता है। इस बचपन की अवस्था में बालक का मन-मस्तिष्क एक कोरे कागज के समान होता है। इस कोरे कागज रूपी मन-मस्तिष्क म

शिक्षित होने का अर्थ

शिक्षित होने का अर्थ

चारों तरफ शिक्षा ही शिक्षा के प्रतीकों के रूप में आज हमारे पास है पिछली किसी भी सदी से ज्यादा विद्यालय हैं। हर छोटे बड़े गांव, कस्बे और शहर में हर ओर स्कूल ही स्कूल दिख जाते हैं। इस विद्या ने लोगों को डॉक्टर, इंजीनियर और वैज्ञानिक बना कर आजीविका या रोजी और रोटी कमा लेने का हुनर तो दिया है, लेकिन इसे हम सही अर्थों में शिक्षा नहीं दी। हम अपने बच्चों को यूरोप, अमरीका और आस्ट्रलिया भेज कर वहां भी रोटी कमाने की कुशलता ही सिखा रहे हैं, मात्र विद्या दे रहे हैं और कुछ भी नहीं। आज हम अपने बच्चों को शिक्षा नहीं दे रहे हैं, न ही हमारा वर्तमान में शिक्षा से कोई नाता है। हम क्या कर रहें हैं यह जानने से

वस्तु एवं सेवा कर जीएसटी क्या है?

जीएसटी क्या है?

राज्यसभा द्वारा पारित वस्तु एवं सेवा कर से संबंधित प्रमुख बिंदू इस प्रकार हैं. लंबे से लंबित वस्तु एवं सेवा कर विधेयक से संबंधित संविधान संशोधन विधेयक बुधवार को राज्यसभा में सर्वसम्मति से पारित हो गया. इस विधेयक को आजादी के बाद सबसे बड़े कर सुधार के रूप में देखा जा रहा है. उल्लेखनीय है कि जीएसटी के तहत पूरे देश में एकसमान कर व्यवस्था लागू हो जाएगी और राज्यों के सभी कर हट जाएंगे.

जीएसटी कर प्रणाली में केंद्रीय उत्पाद शुल्क, राज्यों के वैट, मनोरंजन, प्रवेश और अन्य कर खत्म हो जाएंगे और एक निश्चित दर पर जीएसटी कर लागू हो जाएगा.

दक्ष कोचिंग में योग शिक्षा प्रारम्भ

दक्ष  कोचिंग में योग शिक्षा प्रारम्भ

दक्ष कोचिंग पिछले 14 वर्षो से शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी कोचिंग संस्थान रहा है जिसका बरेली मण्डल में अपने प्रभाब दिखाया है दक्ष कोचिंग इस वर्ष में योग शिक्षा का प्रारम्भ किया है यह कोर्स  योग भारती द्वारा संचालित हैं  योग भारती योग पीठ संस्थान में योग शिक्षा कोर्स में प्रवेश प्रारम्भ 

लीडर बनना है तो रखें कुछ बातों का ध्यान

लीडर बनना है  तो रखें कुछ बातों का ध्यान

 

बात जब टीम लीडर की हो तो उसे खुद को सफल, दूसरों से अलग और श्रेष्ठ साबित करने के लिए कुछ जरूरी बातों को अनिवार्य रूप से ध्यान में रखना पड़ता है। अगर आप भी टीम लीडर बनना चाहते हैं तो आपको कुछ बातों का आवश्यक रूप से पालन करना चाहिए। दरअसल, टीम लीडर को एक व्यक्ति के बजाय समूह के रूप में काम करना होता है। इसलिए उसकी हर बात पर सबकी निगाह होती है।

Pages