अंशों का प्रीमियम पर निर्गमन

share issued at Primium

अंशों का प्रीमियम  पर निर्गमन (share issued at Primium)

कोई भी कम्पनी अपने अंशपत्रों का निर्गमन अपने अंकित मूल्य से अधिक पर कर सकती है जैसे किसी कम्पनी कके अंश का अंकित मूल्य  10 रू. है और वह उसे 12 रू. में विक्रय करती है तो यह २ रू. अधिक मूल्य ही अधिमूल्य या प्रीमियम कहलायेगा यह कम्पनी के लिए पूंजीगत लाभ माना जाता है

प्रीमियम का लेखा Alloutment  के साथ किया जाता है कभी –कभी प्रीमियम का लेखा अलग – अलग याचना पर भी किया

 

जर्नल लेखा

 

Share alloutment a/c                                         Dr.

अंशो का बट्टे पर निर्गमन

अंशो का बट्टे पर निर्गमन

अंशो का बट्टे पर निर्गमन

कंपनी अधिनियम की धरा 79 के अनुसार कोई कम्पनी अपने अंश पत्रों का निर्गमन अपने अंशों के अंकित मूल्य से अधिक पर कर सकती है अर्थात कोई अंश धारक अंकित मूल्य से कम धनराशि देकर अंशों के पूरे मूल्य का स्वामी हो जाता है  यह केवल व्ही कम्पनी ही कर सकती है जिन्होंने अपनी सेवाए एक वर्ष दे दी हो या अपने व्यवसाय का एक वर्ष पूर्ण कर चुकी हो

वैदिक वाड्.मय से निकला है विज्ञानं

वैदिक वाड्.मय से निकला है विज्ञानं

संस्कृत का सर्वाधिक प्राचीन साहित्य तो वेद ही है,ये भारतीय चिन्तन एवं भारतीय ज्ञान विज्ञान के लिए भी सर्वाधिक प्राचीन प्रामाणिक ग्रन्थ है। उन दिनों भी भारत मंे विज्ञान के कई क्षेत्र विकसित थे। भौतिकषास्त्र, रयायनषास्त्र, वनस्पतिषास्त्र, कृषिविज्ञान, गणितषास्त्र, नक्षत्रविज्ञान, जीवविज्ञान, धातुविज्ञान विज्ञान,आयुर्वेद,स्थापत्य विज्ञान,षिल्पषास्त्र,विमान विज्ञान एवं कलाकौषल का अध्ययन अध्यापन एवं प्रयोग प्रचुरता में मिलता था । वैदिक वाड्.मय में अनेक स्थलों पर विज्ञान के विकसित स्वरूप का विवरण प्राप्त होता है। अष्विनी कुमारों द्वारा उपमन्यु की नेत्रज्योति वापस ला देना,अनसूया द्वारा शाण्डिली के

विश्व योग दिवस पर योग भारती के साथ मनाएगी दक्ष कोचिंग

विश्व योग दिवस पर योग भारती के साथ मनाएगी

21 को होने वाले अंतर्राष्ट्रीय विश्व योग दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के लिए दक्ष कोचिंग योग भारती के साथ हिस्सा लेगी इस कार्यक्रम को बड़े स्तर पर मनाने के लिए कोचिंग के संचालक श्री गंगवार ने योग भारती का सहयोग करने को कहा है 

इस कार्यक्रम में देश के किसानों के साथ काम करने वाली एक बड़ी संस्था kisanhelp भी इस संस्था के साथ भाग लेगी I 

Daक्ष Carrer Point परिवार ने दी गणतंत्र दिवस पर देशवासियो को बधाई

Daक्ष Carrer Point पर आज गणतंत्र दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कोचिंग के निदेशक श्री सिंह ने कहा कि आज का दिन यह सोचने का नही है कि भारत ने हमे क्या दिया, आज हमे इस पर विचार करना है कि भारत के लिए हमने क्या किया, हमारा क्या योगदान है। किसी भी देश की पहचान उसके देशवासियों से होती है, उनके विचारों से होती है, उनकी लगन, मेहनत और इच्छा-शक्ति से होती है। आज विश्व हमारी तरफ़ आशा भरी निगाहों से देख रहा है, आइए गणतन्त्र दिवस के पावन पर्व पर शपथ लें कि हम देश के लिए योगदान करेंगे, कुछ ऐसा योगदान जो देश को और आगे ले जा सके। गणतंत्र दिवस को संविधान स्थापना के समारोह के रूप में मनाया जाता है तो इसमें कुछ

Pages