प्रदूषण के खर दूषण

प्रदूषण के खर दूषण

पर्यावरण की नाक कब की कट चुकी है। रक्तस्राव सी ग्लोबल वार्मिंग तेजी से बढ़ रही है। दुनिया के पर्यावरण को तहस नहस करने वाली खर दूषण सेना अब इसे बचाने की जिम्मेदारी का पाठ गरीब और विकासशील देशों को पढ़ा रही है।

Tags: 

जलवायु परिवर्तन के खतरे से बचाने वाले उपाय की उपेक्षा

जलवायु परिवर्तन के खतरे से बचाने वाले उपाय की उपेक्षा

जलवायु परिवर्तन के खतरों और कार्बन डाई ऑक्साइड को खपाने में अहम योगदान देने वाले जिस सबसे महत्वपूर्ण घटक पीपल की महत्ता प्रधानमंत्री मोदी ने पेरिस महासम्मेलन के दौरान दुनिया को तो बताई, उसी पीपल की अपने देश में ही उपेक्षा हो रही है।

प्रधानमंत्री ने सम्मेलन में कहा था कि जलवायु परिवर्तन के खतरों से निपटने में पीपल बहुत अहम है। पीपल प्रकृति का अविभाज्य हिस्सा है और बिना इसके प्रकृति के बारे में सोचा नहीं जा सकता। पीएम के कथन के आइने में अमर उजाला ने शोध-संस्थानों, आप-पास पीपल पर नजर डाली तो पता चला कि इस पर शोध प्रोजेक्ट न के बराबर हैं, पौध नर्सरियों में भी पीपल की उपेक्षा है।

Tags: 

अंशों के निर्गमन सम्बन्धी लेखे

अंशों के निर्गमन सम्बन्धी लेखे

अंशों के निर्गमन सम्बन्धी लेखे

आवेदन की राशी प्राप्त होने पर

 

Bank a/c                                              Dr.

            To Share application a/c

आवेदन की राशि अंश पूँजी में हस्तांतरित करने पर

 

Share application a/c                                      Dr.

            To Share capital a/c

 

 

आवंटन की राशि मांगने पर

Share allotment a/c                                        Dr.

            To Share capital a/c

 

कार्बन डाईऑक्साइड ऊर्जा का स्रोत हो सकता है

कार्बन डाईऑक्साइड ऊर्जा का स्रोत हो सकता है

न्यूयॉर्क| वैज्ञानिकों ने एक ऐसे उत्प्रेरक की खोज की है, जो कार्बन डाईऑक्साइड को सिनगैस में बदलने की प्रणाली में सुधार ला सकता है। सिनगैस ऊर्जा का एक वैकल्पिक स्रोत है। अमेरिका के शिकागो स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ इलिनोइस के वैज्ञानिकों ने रासायनिक प्रक्रिया के दौरान कार्बन डाईऑक्साइड के इलेक्ट्रॉन कम करने या हस्तांतरण करने के लिए दो चरणों में होने वाली एक उत्प्रेरक प्रक्रिया का विकास किया है, जिसमें मोलिब्डेनम डाईसल्फाइड और आयनिक द्रव्यों का प्रयोग किया जाता है।

कमजोर नींव पर शिक्षा की इमारत

कमजोर नींव पर शिक्षा की इमारत

स्वस्थ व सफल शिक्षा व्यवस्था के लिए मजबूत प्राथमिक शिक्षा रूपी नींव आवश्यक है. वर्तमान में प्राथमिक शिक्षा मुख्य रूप से दो श्रेणियों में विभाजित है.

Pages