जरा याद करले उनको ............................जो लौट कर घर न आये

जरा याद करले उनको ............................जो लौट कर घर न आये

 15 अगस्त 1947  से  पहले हम अंग्रेजों के गुलाम थे। उनके बढ़ते हुए अत्याचारों से सारे भारतवासी त्रस्त हो गए और तब विद्रोह की ज्वाला भड़की और देश के अनेक वीरों ने प्राणों की बाजी लगाई, गोलियां खाईं और अंतत: आजादी पाकर ही चैन ‍लिया।  पहले हम अंग्रेजों के गुलाम थे उनके बढ़ते हुए अत्याचारों से सारे भारतवासी त्रस्त हो गए और तब विद्रोह की ज्वाला भड़की और देश के अनेक वीरों ने प्राणों की बाजी लगाई, गोलियां खाईं और अंतत: आजादी पाकर ही चैन ‍लिया।इसी दिन हमने अत्याचारी ब्रितानी हुकूमत के बाद आजादी का पहला सूरज देखा था।  वह दिन  15 अगस्त 1947 था इस दिन हमारा देश आजाद हुआ, 

महान वैज्ञानिक डॉ कलाम को Daक्ष Carrer Point परिवार की श्रद्धांजलि

डॉ कलाम को  श्रद्धांजलि

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम अब नहीं रहे। राष्ट्र ने वास्तविक भारत रत्न को खो दिया।भारत ने अपना मिसाइल मैन को खो दिया है। डॉ. कलाम एक सच्चे राष्ट्रभक्त और विज्ञान, शिक्षा और नैतिकता के दुर्लभ संयोजन थे।कलाम को देश के पूर्व राष्ट्रपति के तौर पर ही याद नहीं रखा जाएगा बल्कि उनकी मेहनत के लिए भी उन्हें कभी नहीं भुलाया जा सकता। कलाम हमेशा नौजवानों को प्रेरणा देने का काम करते रहेंगे। 

उनको शत शत नमन    

डॉ. राधा कान्त

स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है

स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है

दुनिया में स्वास्थ्य से बढ़कर कुछ भी नहीं होता और शरीर अगर स्वस्थ हो तो सब कुछ अच्छा लगता है, दिल को सुकून मिलता है लेकिन अगर हम थोड़ा भी बीमार पड़ते हैं तो सारी दुनिया अधूरी सी लगने लगती है। इसलिए स्वास्थ्य को सबसे बड़ा धन भी कहा गया है लेकिन वर्तमान परिवेश और हमारी जीवन-शैली ने लोगों को अस्वस्थ होने पर मजबूर कर दिया है। क्या इस अस्वस्थता के लिए हमारे द्वारा निर्मित दूषित परिवेश और जीवन-शैली सर्वाधिक जिम्मेदार नहीं है?

सफलता के लिए क्या करें क्या न करें

जीवन में सफलता की बुलंदी पर हर इंसान पहुंचना चाहता है लेकिन हर कोई इसे हासिल नहीं कर पाता है। असफल होने के कई कारण है, जिनमें से एक जीवन में सही ढंग से प्लानिंग का न होना है। हम यहां आपको सफलता के कुछ मंत्र बताने जा रहे हैं जिसे अपनाकर आप भी जीवन में सफल बन सकते हैं...

कुछ टिप्स इंटरव्यू के लिए

 कुछ टिप्स इंटरव्यू के लिए

अगर ढेर सारी पढ़ाई करने के बावजूद आप अपने आपको और अर्जित ज्ञान को प्रस्तुत करना नहीं जानते तो, हो सकता है इंटरव्यू की कठिन दौड़ में पिछड़ जाएँ। 

ऐसे में कुछ साधारण, लेकिन महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखकर आप जंग जीत सकते हैं।

उच्च शिक्षा और कड़ी प्रतियोगिता आधुनिक जीवन शैली के अहम भाग बन चुके हैं। शिक्षा में उत्तम योग्यता के साथ-साथ उसका प्रस्तुतीकरण भी अत्यंत अहम बन गया है। 

केवल परीक्षा में अच्छे अंक लाकर सर्टिफिकेट हासिल करना ही सफलता का मापदंड नहीं रह गया है, बल्कि इंटरव्यू में उसका व्यावहारिक प्रदर्शन भी अति आवश्यक हो गया है। 

Pages