rksir

वैदिक वाड्.मय से निकला है विज्ञानं

वैदिक वाड्.मय से निकला है विज्ञानं

संस्कृत का सर्वाधिक प्राचीन साहित्य तो वेद ही है,ये भारतीय चिन्तन एवं भारतीय ज्ञान विज्ञान के लिए भी सर्वाधिक प्राचीन प्रामाणिक ग्रन्थ है। उन दिनों भी भारत मंे विज्ञान के कई क्षेत्र विकसित थे। भौतिकषास्त्र, रयायनषास्त्र, वनस्पतिषास्त्र, कृषिविज्ञान, गणितषास्त्र, नक्षत्रविज्ञान, जीवविज्ञान, धातुविज्ञान विज्ञान,आयुर्वेद,स्थापत्य विज्ञान,षिल्पषास्त्र,विमान विज्ञान एवं कलाकौषल का अध्ययन अध्यापन एवं प्रयोग प्रचुरता में मिलता था । वैदिक वाड्.मय में अनेक स्थलों पर विज्ञान के विकसित स्वरूप का विवरण प्राप्त होता है। अष्विनी कुमारों द्वारा उपमन्यु की नेत्रज्योति वापस ला देना,अनसूया द्वारा शाण्डिली के